Wiki: श्रीराम फाइनेंस कंपनी का मालिक कौन है?

श्रीराम फाइनेंस कंपनी का मालिक कौन है
श्रीराम फाइनेंस कंपनी का मालिक कौन है

श्रीराम फाइनेंस कंपनी का मालिक कौन है? मनुष्य के रूप में, हम हमेशा कंपनियों के मालिकों के बारे में जानने के लिए उत्सुक रहते हैं की किसने और कब बनाया है।

ऐसी ही भारत में एक फाइनेंस कंपनी है जिसका नाम श्रीराम फाइनेंस। श्रीराम फाइनेंस भारत में फाइनेंस उद्योग में एक जाना-पहचाना नाम है।

फाइनेंस सेवाओं और समाधानों की अपनी श्रृंखला के साथ, यह वर्तमान में देश की बहुत बड़ी फाइनेंस कंपनी बन गई है। जैसे की पर्सनल लोन, बिज़नेस लोन, व्हीकल लोन से ले कर बिभिन्न प्रकार की लोन प्रदान करती है।

लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि श्रीराम फाइनेंस का मालिक कौन है, श्रीराम फाइनेंस की स्थापना कब हुई, और वर्तमान में श्रीराम फाइनेंस के सीईओ कौन है?

पूरी जानकारी इस ब्लॉग पोस्ट में आपको मिलेगी!

श्रीराम फाइनेंस कंपनी का मालिक कौन है?

जवाब: श्रीराम फाइनेंस कंपनी के मालिक और संस्थापक आर त्यागराजन हैं। उन्होंने 5 अप्रैल 1974 में भारत में समाज के वंचित और वित्तीय रूप से बहिष्कृत क्षेत्रों को फाइनेंस सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से कंपनी शुरू की थी। वर्तमान में श्रीराम फाइनेंस कंपनी भारत में सबसे बड़ी गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC) में से एक बन गई है, जो श्रीराम फाइनेंस वाहन ऋण, व्यक्तिगत ऋण, और बिज़नेस ऋण सहित वित्तीय उत्पादों और सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला पेश करती है।

श्रीराम फाइनेंस कंपनी का मालिक कौन है
श्रीराम फाइनेंस कंपनी का मालिक कौन है

श्रीराम फाइनेंस कंपनी:

श्रीराम फाइनेंस कंपनी का मालिक✅ आर त्यागराजन हैं
संस्थापक✅ R Thiagarajan,
✅ AVS Raja
✅ T Jayaraman
सीईओ✅ Mr. Murali
स्थापना✅ 5 अप्रैल 1974
मुख्यालय✅ चेन्नई, तमिलनाडु, भारत
Websitehttps://www.shriramcapital.com/

श्रीराम फाइनेंस कंपनी का इतिहास

श्रीराम फाइनेंस कंपनी भारत में अग्रणी गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFCs) में से एक है, जो भारत में विभिन्न क्षेत्रों में ग्राहकों को वित्तीय सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करती है। कंपनी अपनी स्थापना के बाद से लगभग 49 वर्ष का सफर तय कर चुकी है और आज वित्तीय उद्योग में एक विश्वसनीय नाम बन गई है।

श्रीराम फाइनेंस कंपनी की स्थापना 5 अप्रैल 1974 को आर त्यागराजन, एवीएस राजा और टी जयरामन ने एक फाइनेंस कंपनी के रूप में की थी जो वाणिज्यिक वाहनों के लिए फाइनेंस सेवा प्रदान करती थी।

लेकिन धीरे धीरे कंपनी ने व्यक्तिगत ऋण, गृह ऋण, व्यवसाय ऋण आदि जैसे अन्य प्रकार के ऋणों को शामिल करने के लिए अपनी उत्पाद पेशकशों को विकसित और विस्तारित किया है।

1986 में, श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कंपनी लिमिटेड (STFC) को श्रीराम फाइनेंस कंपनी की सहायक कंपनी के रूप में लॉन्च किया गया था। STFC छोटे और मध्यम आकार के उद्यमों (SMEs) के लिए ट्रकों और बसों जैसे वाणिज्यिक वाहनों के फाइनेंस पर विशेष रूप से ध्यान केंद्रित करता है।

यह कदम दोनों कंपनियों के लिए बेहद सफल साबित हुआ क्योंकि इसने उन्हें एक बड़े बाजार सेगमेंट में टैप करने की इजाजत दी जो कि बैंकों द्वारा काफी हद तक कम थी।

1990 के दशक में जैसे-जैसे भारतीय अर्थव्यवस्था का विकास हुआ, स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि और SMEs सहित विभिन्न क्षेत्रों में फाइनेंस करने की मांग में वृद्धि हुई। श्रीराम फाइनेंस कंपनी ने इस अवसर को पहचाना और इन क्षेत्रों के लिए ऋण की पेशकश करना शुरू कर दी।

2006 में, श्रीराम फाइनेंस ग्रुप द्वारा ‘श्रीराम सिटी यूनियन फाइनेंस‘ लॉन्च किया, जो विशेष रूप से दोपहिया फाइनेंस, गोल्ड लोन और पर्सनल लोन जैसे छोटे मोठे लोन फाइनेंस को पूरा करता था।

उसके कुछ वर्षों से, श्रीराम समूह ने INSURANCE, LOGISTICS और RETAILING सहित अन्य व्यवसायों में खदम रखा।

आज श्रीराम समूह में वित्तीय सेवाओं, बुनियादी ढांचा परियोजनाओं और जीवन विज्ञान सहित विभिन्न क्षेत्रों में काम करने वाली 60 से अधिक कंपनियां शामिल हैं।

वर्तमान पुरे देश भर में 1,000 से अधिक श्रीराम समूह की शाखाएं हैं। और बिभिन्न प्रकार की फाइनेंस सेवा करती है। वर्तमान में श्रीराम फाइनेंस कंपनी की कर्मचारियों की संख्या लगभग 55,000 है।


FAQS:

श्रीराम फाइनेंस की स्थापना कब हुई?

श्रीराम फाइनेंस की स्थापना वर्ष 1979 में हुई थी। यह एक एनबीएफसी है जो कई प्रकार की वित्तीय सेवाएं प्रदान करता है। कंपनी श्रीराम समूह का एक हिस्सा है, जिसे 1974 में स्थापित किया गया था और तब से इसने बीमा, बिजली और बुनियादी ढांचे जैसे विभिन्न उद्योगों में विविधता ला दी है।

श्रीराम ग्रुप का मालिक कौन है?

श्रीराम ग्रुप विभिन्न क्षेत्रों जैसे फाइनेंस, बीमा, बुनियादी ढांचा, और अन्य कई विविध व्यावसायिक हितों वाली कंपनियों का एक समूह है। ग्रुप की स्थापना श्री आर त्यागराजन द्वारा की गई है, जो श्रीराम समूह के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हैं।

श्रीराम फाइनेंस कितने साल का है?

श्रीराम फाइनेंस कंपनी भारत में स्थित एक गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (NBFC) है जिसे 5 अप्रैल 1974 को स्थापित किया गया था। 2023 तक, यह 49 साल पुरानी कंपनी है।

श्रीराम ग्रुप में शुरू की गई पहली कंपनी कौन सी है?

श्रीराम ग्रुप के तहत शुरू की गई पहली कंपनी वर्ष 1979 में श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कंपनी (STFC) थी। STFC भारत की एक प्रमुख गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी है जो वाणिज्यिक वाहनों के लिए फाइनेंस सेवा प्रदान करती है।

क्या श्रीराम फाइनेंस आरबीआई के अधीन है?

हां, श्रीराम फाइनेंस कंपनी को भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा नियंत्रित किया जाता है। एक गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी के रूप में, श्रीराम फाइनेंस को अपने संचालन के विभिन्न पहलुओं, जैसे कि पूंजी पर्याप्तता, जोखिम प्रबंधन, शासन, और इत्यादि के संबंध में आरबीआई द्वारा जारी नियमों और दिशानिर्देशों का पालन करता है, साथ ही आरबीआई श्रीराम फाइनेंस की निगरानी करता रहता है।


अंत में, श्रीराम फाइनेंस भारत में एक प्रसिद्ध गैर-बैंकिंग फाइनेंस कंपनी है जो व्यक्तियों और व्यवसायों को बिभिन्न प्रकार की फाइनेंस सेवाओं की एक श्रृंखला प्रदान करती है।

कंपनी श्रीराम समूह का एक हिस्सा है, जिसे 1974 में श्री आर. त्यागराजन द्वारा स्थापित किया गया था। श्री त्यागराजन श्रीराम समूह के अध्यक्ष, प्रबंध निदेशक, और मालिक हैं।

मुझे उम्मीद है कि इस लेख में श्रीराम फाइनेंस कंपनी का मालिक कौन है, इसकी स्थापना कब हुई और कंपनी कितनी पुरानी है? इसकी पूरी जानकारी मिल गई होगी।


मालिक कौन है:-

आविष्कार किसने किया:-

2 Comments

  1. धीरज जयप्रकाश पांडेsays:

    क्या हम इतने होनहार और निस्वार्थ दयावान व्यक्ति से संपर्क अथवा मुलाकात कर सकते हैं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *