डेबिट कार्ड का क्या मतलब होता है (Debit Card Kya Hai) What Is Debit Card in Hindi

Debit Card Kya Hai डेबिट कार्ड क्या है

क्या आप डेबिट कार्ड के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं की डेबिट कार्ड क्या है (Debit Card Kya Hai) डेबिट कार्ड का क्या मतलब होता है, डेबिट कार्ड से क्या फायदा होता है और डेबिट कार्ड कितने प्रकर की होता है, डेबिट कार्ड से सम्बंदित इन सारे सवालों की जानकारी इस पोस्ट में दिया गया है।

आजकल हर बैंक खाताधारक चाहता है कि उसके पास एटीएम कार्ड हो और इसी मांग को देखते हुए सभी बैंक अपने यूजर्स को बैंक खाते के साथ एटीएम कार्ड भी उपलब्ध कराते हैं। क्योंकि एटीएम कार्ड धारक को बैंक में ट्रांजैक्शन करने के लिए लाइन में खड़े होने की जरूरत नहीं होती है। वे जब चाहें एटीएम मशीन पर जाकर ट्रांजेक्शन कर सकते हैं। यानी पैसा निकाला जा सकता है, जमा किया जा सकता है।

आज आप इस पोस्ट में जानेंगे की डेबिट कार्ड का क्या मतलब होता है (DEBIT CARD KYA HOTA HAI IN HINDI)

What Is Debit Card in Hindi (Debit Card Kya Hai)

What Is Debit Card in Hindi
[debit card kya hai: what is debit card in hindi]

डेबिट का मतलब आपके बैंक खाते से पैसे निकासी करना होता है, जैसे आप अपने बैंक अकाउंट से 1000 रूपए किसी काम के लिए निकाला, उसी एंट्री को बैंक की भाषा में डेबिट कहते हैं।

2015 में माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किया गया डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के बाद से लगभग सभी बैंक यूजर को डिजिटल लेनदेन करने की सुविधा प्रदान कर रही हैं। सभी यूजर को बैंक द्वारा एटीएम कार्ड दिया जा रहा है।

डेबिट कार्ड का क्या मतलब है?:

आपकी बैंक अकाउंट के साथ जुडी ATM CARD ही डेबिट कार्ड होता है जो आपको ATM से पैसे निकासी करने, ऑनलाइन शॉपिंग करने, अमेज़न, फ्लिपकार्ट जैसे साइट पर सामान खरीदने वक्त भुगतान करने या किसी भी प्रकार की ऑनलाइन भुगतान करने में मदद करती है – उसी एटीएम कार्ड को डेबिट कार्ड कहते हैं। आप ATM CARD को ही DEBIT CARD कह सकते हैं।

डेबिट कार्ड 16 अंकों का कार्ड होता है और इसमें समाप्ति तिथि और महीने के साथ तीन अंकों का सीवीवी नंबर होता है। यह आपके चेकिंग खाते के लिए अद्वितीय है लेकिन आपके खाता संख्या से अलग है जो ऊपर की तस्वीर में दिखता है।

डेबिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं?

इंडिया में मुख्य रूप से 4 प्रकार की डेबिट कार्ड बहुत उपयोग होती है यानि बैंक द्वारा उसेर्स को प्रोवाइड किया जाता है। अगर आपके पास किसी बैंक खाते जैसे प्राइवेट हो या सरकारी बैंक में भी अकाउंट खोला है तो इन चार डेबिट कार्ड मे से अपनी पसंद की डेबिट कार्ड अप्लाई करा सकते हैं।

  1. Visa Debit Card
  2. Master Card
  3. RuPay Card
  4. Maestro Debit Card

वर्चुअल डेबिट कार्ड क्या है?

कई बार आपने वर्चुअल डेबिट कार्ड के बारे में भी सुना होगा: वर्चुअल डेबिट कार्ड का मतलब है कि आपके पास डेबिट कार्ड है लेकिन फिजिकल नहीं। जैसे अगर आपके पास पेटीएम पेमेंट बैंक खाता है तो यह बैंक आपको वीजा का वर्चुअल डेबिट कार्ड प्रदान करता है।

आप इसे कहीं भी इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन एटीएम से पैसे नहीं निकाल सकते क्योंकि आपके पास फिजिकल कार्ड नहीं है, आप चाहें तो 250 रुपये का शुल्क देकर कार्ड ऑर्डर कर सकते हैं।

मतलब वर्चुअल डेबिट कार्ड और फिजिकल कार्ड एक ही हैं। आप फिजिकल कार्ड को अपनी जेब में रख सकते हैं जबकि वर्चुअल डेबिट कार्ड आपके नेट बैंकिंग आईडी या ऐप पर रहती है।

Also read:  एटीएम से पैसा कैसे निकालें?

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड क्या है?

Credit Card:

क्रेडिट कार्ड एक वित्तीय साधन और एक प्रकार की क्रेडिट सुविधा है जो बैंकों द्वारा पूर्व-निर्धारित क्रेडिट सीमा के साथ धन उधार लेने के लिए जारी की जाती है, जिससे ग्राहकों को कैशलेस लेनदेन करने में मदद मिलती है। कार्ड जारीकर्ता आपके क्रेडिट स्कोर, क्रेडिट इतिहास और आपकी आय के आधार पर क्रेडिट सीमा निर्धारित करता है।

क्रेडिट कार्ड ग्राहकों को वस्तुओं और सेवाओं ऑनलाइन खरीदारी और लेनदेन करने में सक्षम बनाता है। इसका मतलब है कि एक क्रेडिट कार्ड ग्राहकों को खरीदारी करने और बाद में उनके लिए भुगतान करने की अनुमति देता है। इस मायने में, यह एक अल्पकालिक ऋण की तरह है। जब आप खरीदारी करने के लिए क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते हैं, तो आप अनिवार्य रूप से क्रेडिट कार्ड कंपनी या बैंक के पैसे का उपयोग कर रहे हैं।

Debit Card:

डेबिट कार्ड एक ऐसा कार्ड है जो बैंक द्वारा ग्राहक को दिया जाता है और ग्राहक के बैंक खाते से जुड़ा होता है। दूसरी ओर, डेबिट कार्ड एक अधिक बहु-कार्यात्मक कार्ड है। एटीएम के अलावा, इसे स्टोर, रेस्तरां और ऑनलाइन जैसे कई स्थानों पर लेनदेन के लिए स्वीकार किया जाता है। जब भी डेबिट कार्ड से ट्रांजैक्शन किया जाता है तो ग्राहक के बैंक खाते से राशि काट ली जाती है।

डेबिट कार्ड शुल्क (क्या डेबिट कार्ड की वार्षिक फीस होती है)

सभी बैंक ग्राहकों से डेबिट कार्ड सुविधा के लिए वार्षिक डेबिट कार्ड शुल्क लागु करता है। आप इसे वार्षिक रखरखाव शुल्क भी कह सकते हैं। डेबिट कार्ड कई तरह के होते हैं और सभी बैंक अलग-अलग कार्ड के लिए अलग-अलग चार्ज लगाते हैं।

निचे कुछ बैंकों के डेबिट कार्ड वार्षिक शुल्क की जानकारी आधिकारिक साइट पर देखी जा सकती है।

FAQs | Debit Card Kya Hai

Q. डेबिट कार्ड का दूसरा नाम क्या है?

Ans. डेबिट कार्ड का दूसरा नाम एटीएम कार्ड भी है क्योंकि डेबिट कार्ड से आप एटीएम से नकदी निकाल और जमा कर सकते हैं।

Q. डेबिट कार्ड का बैलेंस कितना होता है?

Ans. डेबिट कार्ड बैंक खाते से जुड़ा होता है, यानी जब भी आप डेबिट कार्ड से खरीदारी या निकासी करते हैं, तो आपके बैंक खाते से शेष राशि काट ली जाती है। डेबिट कार्ड बैलेंस आपका बैंक अकाउंट सेविंग बैलेंस है।

Q. डेबिट कार्ड कितने नंबर का होता है?

Ans. एक डेबिट कार्ड 16 अंकों का नंबर होता है, इस डेबिट कार्ड में एक एक्सपायरी महीना और तारीख होती है, और 3 अंकों का सीवीवी नंबर होता है।

Q. एटीएम कार्ड और डेबिट कार्ड में क्या अंतर है?

Ans. एटीएम कार्ड और डेबिट कार्ड में कोई अंतर नहीं है क्योंकि आजकल सभी बैंक डेबिट कार्ड-सह-एटीएम प्रदान करते हैं।

Q. क्या नया डेबिट कार्ड बनवाने में पैसे लगते हैं?

Ans. अधिकांश डेबिट कार्ड कस्टमर के लिए निःशुल्क होते हैं, लेकिन कुछ मामलों में नया डेबिट कार्ड बनवाने में पैसे लगते हैं जैसे जारी करने/जुड़ने का शुल्क, वार्षिक शुल्क और कार्ड बदलने का शुल्क आदि शामिल हैं।


उम्मीद है आपको डेबिट कार्ड का क्या मतलब होता है (Debit Card Kya Hai – डेबिट कार्ड क्या है) What Is Debit Card in Hindi यह जानकारी अच्छी लगी होगी। इससे सम्बंदित और जानकारी के लिए निचे कमेंट करें और इसे शेयर भी करें। धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *