Train Ka Avishkar Kisne Kiya | रेल इंजन का आविष्कार किसने किया था और कब

Rail Engine Ka Avishkar Kisne Kiya, रेल इंजन का आविष्कार किसने किया था और कब?, Train Ka Avishkar Kisne Kiya, भारत में रेल का आविष्कार कब हुआ था?

इस लेख में आपको सबसे पहले रेल इंजन का आविष्कार किसने किया ( Train Ka Avishkar Kisne Kiya) और रेल विभाग में आधुनिक रेलगाड़ियां जैसे;

  • स्टीम इंजन, वाष्प चालित रेल इंजन,
  • मेट्रो ट्रेन,
  • पेट्रोल इंजन

इन आधुनिक रेल इंजन का आविष्कार किसने किया उनके बारे में आपको जानकारी देने वाला हूं.

आप जानते ही होंगे कि रेलवे का इंजन यानी Railgadi Ka Avishkar इसलिए बनाया गया है ताकि कम समय में लंबी या छोटी यात्रा के लिए लोगों की यात्रा को बहुत आसान बनाया जा सके और आजकल लोग ज्यादातर अपने दैनिक यातायात के लिए ट्रेन का उपयोग करते हैं।

More: Bharat Ke Rail Mantri Kaun Hai

अगर हमें ट्रेन से दिल्ली से मुंबई की यात्रा करनी है, तो औसत समय 22 घंटे लग सकता है क्योंकि ट्रेन तेज गति से चलती है और अन्य वाहनों की तुलना में कम खर्च होती है.

जबकि अगर हम किसी अन्य वाहन से यात्रा करते हैं तो औसत समय थोड़ा अलग हो सकता है.

इतनी तेज रफ्तार ट्रेन का आविष्कार और खोज किसने की, जिस इंजन को दुनिया के सभी देशों में यातायात के लिए इस्तेमाल किया जाता है, आज हम इनके बारे में जानेंगे।

Train Ka Avishkar Kisne Kiya | रेल इंजन का आविष्कार किसने किया था और कब

Train Ka Avishkar Kisne Kiya

दुनिया की पहली ट्रेन साल 1804 में इंग्लैंड के रिचर्ड ट्रेविथिक (Richard Trevithick) नाम के एक इंजीनियर ने स्टीम इंजन का आविष्कार किया था, जो दुनिया का पहला रेल इंजन है, जिस इंजन को Steam Locomotive इंजन कहा जाता है.

Richard Trevithick: रेल गाड़ी के आविष्कारक

जन्म स्थान13 अप्रैल 1771 – ट्रेगाजोरन, कॉर्नवाल, इंग्लैंड
भाप-इंजन, वाष्प चालित रेल इंजन1804 में आविष्कार किया गया
भूमिकाआविष्कारक, खनन इंजीनियर

पहला रेल गाड़ी: साल 1804 में 21 फरवरी को दुनिया के पहले लोकोमोटिव की यात्रा साउथ वेल्स में मेरथर टाइडफिल के पास शुरू हुई। 1812 में, मैथ्यू मरे नाम के एक व्यक्ति ने सलामांका नामक एक रेलवे इंजन का निर्माण किया, जिसका व्यावसायिक व्यवसाय के लिए सफलतापूर्वक उपयोग किया गया।

More: Bharat Ke Shiksha Mantri Kaun Hai

पांच प्रकार की ट्रेन का आविष्कार

Train Ka Avishkar: Richard Trevithick के द्वारा दुनिया की पहली ट्रेन का आविष्कार करने के बाद, उसी अवधारणा के साथ इंजीनियर द्वारा रेल गाड़ी का उपयोगिता को ले कर तब से आज तक 5 प्रकार की ट्रेनों का आविष्कार किया गया, और इन ट्रेनों में विभिन्न इंजन प्रणालियों का उपयोग किया गया जो एक दूसरे से बहुत अलग हैं। जैसे;

  1. Steam Train (भाप चालित ट्रेन)
  2. Electric Train (विद्युत रेलगाड़ी)
  3. Diesel Train (डीजल ट्रेन)
  4. High Speed Train
  5. Hydrogen Power Train

इस तरह दुनिया का पहला Rail Engine Ka Avishkar बनने के बाद ट्रेनों में कई तरह के बदलाव लाए गए, जो आज हम इन ट्रेनों को देखते हैं और दुनिया के लोगों की यात्रा को बहुत आसान बना दिया है.

Also read;

1. Electric Power Train

Electric Power Train Ka Avishkar Kisne Kiya?

वाष्प चलित रेलगाड़ी का आविष्कार के बाद उन गाड़ियों का उपयोग सदियों तक पूरे यूरोप में यातायात और वाणिज्य कारबार के लिए इस्तेमाल किया गया. लेकिन, साल 1837 में दुनिया का पहला इलेक्ट्रिक रेलगाड़ी/इंजन का अविष्कार किया गया.

Electric Power Train – का आविष्कार स्कॉटलैंड का रोबोट डेविडसन नाम के एक व्यक्ति ने बनाए थे. इलेक्ट्रिक रेल गाड़ी को Voltaic Cell यानी बैटरी के द्वारा चलाया गया जो कि दुनिया का पहला बैटरी से चलने वाला इलेक्ट्रिक रेल गाड़ी है.

2. Diesel Train

Diesel Engine Train Ka Avishkar Kisne Kiya?

इलेक्ट्रिक इंजन के बाद से डीजल इंजन बनाने का गाना शुरू किया गया. डीजल इंजन का मतलब डीजल से चलाए जाने वाला रेलगाड़ी. इस इंजन को William Dent Priestman के द्वारा पहले बनाया गया. 1888 मैं Sir William Thomson के द्वारा चेक किया गया और उसके बाद इसे डीजल इंजन का नाम दिया गया.

दुनिया की पहली डीजल इंजन ट्रेन स्विट्जरलैंड में विंटरथुर-रोमनशोर्न रेलवे लाइन पर वर्ष 1912 में चलाई गई थी। उस समय डीजल इंजन रेलगाड़ी मैक्सिमम प्रति घंटे का 100 किलोमीटर की रफ्तार से चलती थी.

लेकिन यह रेल इंजन बहुत भारी होने के कारण सफल नहीं हो सका लेकिन 1929 में कनाडा के राष्ट्रीय रेलवे पर पहली डीजल इंजन ट्रेन सफलतापूर्वक चलाई गई।

3. High Speed Train

High Speed Train Ka Avishkar Kisne Kiya?

इलेक्ट्रिक इंजन ट्रेन और डीजल इंजन ट्रेन के आविष्कार के बाद, कई देशों में इन वाहनों का उपयोग बहुत तेजी से किया गया और लोगों के काम आसान होता गया.

लेकिन ट्रेन के आविष्कारक/इंजीनियर चुप नहीं रहे, उन्होंने शोध जारी रखा कि उन्नत ट्रेनों का आविष्कार किया जा सकता है।

High Speed Train – का मतलब वह ट्रेन है जो दूसरों ट्रेन से काफी तेजी से दौड़ती है जो कि 300 से ज्यादा की प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ती है. इन ट्रेनों के लिए अलग से रूट होती है.

पहला हाई स्पीड ट्रेन जापान में 1964 में शुरुआत किया. हाई स्पीड ट्रेन को यूरोप और अमेरिका जैसे देशों में चलाएगा. हाई स्पीड ट्रेन को मुख्य रूप से पैसेंजर का यातायात के लिए बनाया गया.

4. Hydrogen Power Train

Hydrogen power रेलगाड़ी को सबसे पहले जर्मनी में साल 2018 में शुरुआत किया गया. इस रेलगाड़ी को चलाने के लिए मुख्य रूप से हाइड्रोजन का केमिकल शक्ति को उपयोग किया जाता है.

भारत में रेल का आविष्कार कब हुआ था – भारत में सबसे पहला रेल अंग्रेजो के द्वारा साल 13 अप्रैल 1853 मैं मुंबई और ठाणे के बीच पेनिनसुला रेलवे के द्वार पैसेंजर ट्रेन चलाया गया.

Related posts;

Final thought: मुझे उम्मीद है कि आप को इस पोस्ट में दुनिया का सबसे पहला ट्रेन:

Train Ka Avishkar Kisne Kiya, रेल इंजन का आविष्कार किसने किया था और कब और भारत में रेल का आविष्कार कब हुआ था और कब चलाया गया था?

उसके बारे में पूरा इंफॉर्मेशन आपको मिली है. इस पोस्ट में आपको दुनिया का सबसे पहला ट्रेन के बारे में क्या जानकारी मिली और क्या नहीं मिली, कमेंट करके जरूर बताएं…

Leave a Reply

Your email address will not be published.